Saturday , August 17 2019
Breaking News
Home / World / छत्तीसगढ़ की यह लूटेरी दुल्हन चढ़ी यूपी पुलिस के हत्थे, कोरबा से संचालित था गैंग, कैसे लोगों को फांसते थे पढ़े पूरी खबर…

छत्तीसगढ़ की यह लूटेरी दुल्हन चढ़ी यूपी पुलिस के हत्थे, कोरबा से संचालित था गैंग, कैसे लोगों को फांसते थे पढ़े पूरी खबर…

कोरबा। भोले भाले लोगों को शादी कर अपने झांसे में फंसाने वाली लुटेरी दुल्हन गैंग यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद यह गैंग नाटकीय ढंग से पुलिस के चंगुल से बचता रहा। जानकारी के अनुसार यूपी के बांदा पुलिस के हत्थे चढ़े इस गैंग ने जबरन शादी व गैंगरेप का आरोप लगाते हुए प्रार्थी को ही गिरफ्तार करवा दिया। जिसके बाद एक और मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने इस गैंग पर अपना शिकंजा कसना शुरु किया तो पूरे गैंग का खुलासा हो गया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इस पूरे गैंग को छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से संचालित किया जा रहा था। जहां युवतियां ऐसे युवकों को टार्गेट करती थी, जिनकी काफी समय से शादी नहीं हो रही, टार्गेट मिल जाने के बाद शुरू होता पैंसे ऐंठने, फिर लूटने या गैंगरेप आदि में फंसाने का खेल। सीओ सिटी बांदा, राघवेंद्र सिंह ने बताया कि छत्तीसगढ़ के कोरबा से ये गैंग संचालित हो रहा है। प्रारम्भिक जांच में पता चला है कि इस गैंग में बहुत से लोग सक्रिय है, जो विभिन्न शहरों में लोगों को शादी कराने के नाम पर फांसते हैं और उनसे ठगी करते हैं।

हिरासत में आयी फर्जी दुल्हन

छत्तीसगढ़ के कोरबा में रहने वाली इस लुटेरी दुल्हन का नाम निर्मला ठाकुर है। यह 10 जुलाई को शहर के संकटमोचन मंदिर में घनश्याम तिवारी के साथ अग्नि के सात फेरे ले रही थी। पता चला शादी के लिए घनश्याम तिवारी ने इस गैंग की सदस्य साध्वी मालती शुक्ला, ममता द्विवेदी और निरंजन को शादी कराने के एवज़ में 50 हज़ार रूपये भी दिए थे। शादी के बाद दुल्हन तीन दिन घनश्याम के साथ रही। लेकिन तीन दिन बाद प्लानिंग के तहत गैंग सदस्य कुलदीप वहां आ धमका और निर्मला को अपनी पत्नी बताकर घनश्याम से एक लाख की मांग की।
इसके बाद मामला कोतवाली तक पहुंचा। यहां निर्मला और उसके तथाकथित पति कुलदीप ने पुलिस के सामने घनश्याम पर जबरन शादी कराने और गैंगरेप जैसे आरोप लगा दिए और वह गिरफ्तार हो गया। इसके बाद मामला एसपी बांदा शालिनी तक पहुंचा। एसपी शालिनी ने खुद जब मामले की तहकीकात की तो कहानी उलटी सामने आयी।
इसी दौरान इस गैंग का एक और शिकार बांदा के गिरवां थाना के अर्जुनाह निवासी दिनेश पांडेय भी एसपी से मिला और अपनी कहानी बयां की। पता चला कि पीड़ित दिनेश पांडेय को भी इस गैंग ने एक महीने पहले अपना शिकार बनाया था। उसके साथ निर्मला ठाकुर ने ही शादी की और रात में लाखो रूपये के ज़ेवर लेकर वह फरार हो गयी थी। एसपी शालिनी ने आरोपी निर्मला, उसके तथाकथित पति कुलदीप, साध्वी मालती, ममता और उसके पति निरंजन को हिरासत में लिया और पीड़ितों की तहरीर पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज उन्हें जेल भेज दिया है।

About Chunnilal Dewangan

Check Also

सुप्रीम कोर्ट में आज कई बड़े फैसले, पदोन्नति में आरक्षण पर 12 वर्ष पुराने फैसले पर नजर

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में बुधवार का दिन कई बड़े फैसलों का साक्षी बनने जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *