Tuesday , July 16 2019
Breaking News
Home / World / पंचतत्व में विलीन हुए कोरिया कुमार, पढ़े उनके द्वारा ऐसी कौन सी नीति बनाई गई जिसे पूरे विश्व ने स्वीकार किया व आज भी क्रियान्वित है

पंचतत्व में विलीन हुए कोरिया कुमार, पढ़े उनके द्वारा ऐसी कौन सी नीति बनाई गई जिसे पूरे विश्व ने स्वीकार किया व आज भी क्रियान्वित है

कोरिया। प्रदेश के पहले वित्तमंत्री रामचन्द्र सिंहदेव आज पंचतत्व में विलीन हो गए। उनको उनकी भतीजी अम्बिका सिंह ने मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार से पहले बैकुंठपुर पैलेस से विभिन्न चौक चौराहों से होते हुए शव यात्रा निकाली गई। जहां नम आखों से लोगों ने कोरिया कुमार को आखिरी विदाई दी। सरकार की तरफ से गृहमंत्री रामसेवक पैकरा, श्रम मंत्री भईया लाल राजवाड़े, मनेंद्रगढ़ विधायक श्याम बिहारी जायसवाल के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चरणदास महंत उपस्थित रहे। कोरिया कुमार ने अपनी राजनीति की शुरुआत छात्र जीवन से ही कर दी थी वे पहली बार सन 1950 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में उपाध्यक्ष बने। जिसके बाद वे 1967 में पहली बार विधानसभा में निर्वाचित हुए, तथा 1972 व 1990 में निर्दलीय विधायक के रूप में निर्वाचित हुए। 1968 व 1976 में वे मध्यप्रदेश में सिंचाई मंत्री के रूप में रहे। वे 1984 से 1989 तक मध्यप्रदेश शासन में राज्य योजना मण्डल के उपाध्यक्ष रहे। 1998 में मध्यप्रदेश शासन में जल संसाधन मंत्री का दायित्व सम्हाला। जिसके बाद साल 2000 में अलग छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद वे छत्तीसगढ़ शासन के पहले वित्तमंत्री बने व 2004 में वे छत्तीसगढ़ विधानसभा के लोक लेखा समिति के सभापति बनाए गए। इसके साथ ही वे सिविलाइजेशन इन ए हेरी, इरिगेशन स्ट्रेटजी मिड कोर्स करेक्शन, न्याय शासन की नींव है, चिंता खाद्यान्न की जैसी और भी पुस्तकों के लेखक भी है। इसके साथ ही उनकी जल नीति को 1994 में पूरे विश्व ने स्वीकार किया जिस पर आज भी क्रियान्वयन किया जा रहा है।

About Chunnilal Dewangan

Check Also

सुप्रीम कोर्ट में आज कई बड़े फैसले, पदोन्नति में आरक्षण पर 12 वर्ष पुराने फैसले पर नजर

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में बुधवार का दिन कई बड़े फैसलों का साक्षी बनने जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *