Tuesday , July 16 2019
Breaking News
Home / Uncategorized / एेसा क्या हुआ था कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा शब्द तलवार से भी खतरनाक

एेसा क्या हुआ था कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा शब्द तलवार से भी खतरनाक

डेस्क। एक युवती ने खुद को आग लगाकर जान दे दी थी। कारण बस इतना था की दो लोगों के बीच हुए झगड़े में दूसरी युवती ने गाली गलौज करते हुए उसे वेश्या कह दिया था। युवती को इस तरह की गाली इतनी नागवार गुजरी की उसने अपने आप को आग लगा लिया। मामला 1998 का है जब दो लोगों के बीच हुए झगड़े में एक युवती ने अपनी जान दे दी थी। मृत्यु से पहले युवती ने पुलिस को बयान दिया था कि एक युवती के साथ उसका झगड़ा हुआ था। जिसमें उक्त युवती ने मृतका के साथ गाली गलौज करते हुए वेश्या कहा था। इससे आहत होकर युवती ने आत्महत्या कर ली थी।

                                                 जिसके बाद ट्रायल कोर्ट ने आरोपी युवती को दोषी पाया और धारा 306 के तहत 3 साल की सजा सुनाई। ट्रायल कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए मामला हाईकोर्ट पहुंचा लेकिन हाईकोर्ट ने फैसले को बरकरार रखा। लेकिन सजा को कम करते हुए एक साल कर दिया। जिसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा। इस मामले में जस्टिस आर भानुमति व विनीत शरन ने निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखा और कहा पीड़ित द्वारा मौत से पहले दिए गए बयान को पड़ने से पता चलता है कि उसे महिला ने वेश्या कहा था, मृतक युवती मात्र 26 साल की अविवाहित लड़की थी, और ऐसा हो सकता है कि इस तरह की बदजुबानी सुनकर दुखी हो गई हो, इसके बाद उसने आत्मदाह कर खुदकुशी करने की सोची।” अदालत ने आरोपी को कहा कि वह चार हफ्ते के अंदर कोर्ट में सरेंडर करें और बाकी की सजा को पूरा करे। अदालत ने कहा कि हाईकोर्ट ने पहले ही उसे काफी रियायत दी है और सजा को कम कर एक साल कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक इस केस में अब और उदारता दिखाने की जरूरत नहीं है।

About Chunnilal Dewangan

Check Also

अटल विकास यात्रा में बस्तर को मिली एक बड़ी सौगात, सीएम ने कहा रेल मार्ग से खुलेंगे विकास के दरवाजे

जगदलपुर। प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के तहत आज छत्तीसगढ़ के आदिवासी बहुल बस्तर संभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *