Saturday , August 17 2019
Breaking News
Home / World / डायल 112 शहर में 10 मिनट गांव में आधे घंटे में पहुंचेगी गाड़ी

डायल 112 शहर में 10 मिनट गांव में आधे घंटे में पहुंचेगी गाड़ी

किशोर महंत, कोरबा। महतारी एक्सप्रेस व संजीवनी के बाद पुलिस सहायता प्राप्त करने के लिए डायल 112 की सेवा शुरू की जा रही है। कॉल करते हुए जरूरतमंद लोगों तक यह महान शहरी क्षेत्र में 10 मिनट व ग्रामीण क्षेत्र में आधे घंटे के भीतर पहुंचेगी वाहनों को पक्षियों के अलावा ऐसे आवश्यक स्थानों में किया गया है। जिससे लोगों को तत्परता से सेवा यह नंबर एक नंबर की तरह कार्य करेगा। जिससे महतारी व संजीवनी की भी सेवा आवश्यकतानुसार किस से लिया जा सकेगा। यह बात SP मयंक श्रीवास्तव में डायल 112 के लोकार्पण के दौरान प्रतिवेदन वाचन में कही द्वारा डायल का लोकार्पण सांसद डॉक्टर बंशीलाल महतो ने फीता काटकर इस अवसर पर संसदीय सचिव लखन लाल देवांगन उपस्थित रहे। सांसद डॉक्टर महतो ने अपने उद्बोधन में कहा कि शासन जनता की सुविधा के लिए प्रतिबद्ध है इस कड़ी में संजीवनी और महतारी के बाद अब 112 की सेवा से लोगों को यह शिकायत नहीं होगी कि कॉल करने के बाद अस्पताल तक पहुंचने की सुविधा नहीं मिली। सचिव ने कहा कि मेडिकल समस्या के अलावा मुश्किल की स्थिति में भी इस वाहन की सुविधा ले सकेंगे।

                     लोकार्पण के पश्चात सभी वाहनों का उन के स्वेटर पैलेस में रवाना किया गया। पुलिस मुख्यालय रायपुर से कोरबा पुलिस 112 के लिए e r v 22 चार पहिया, 5 दो पहिया के अलावा एक चार पहिया बलवा से निपटने उपलब्ध कराया गया है। इन गाड़ियों का संचालन 228 पुलिसकर्मी करेंगे हर गाड़ी में दो पुलिसकर्मी मौजूद रहेंगे। तीन इमरजेंसी सुविधा पुलिस फायर वर्क एंबुलेंस के लिए यह गाड़ियां सेवाएं देंगी। 22 गाड़ियों के लिए 22 पॉइंट निर्धारित किए गए हैं जिले के सभी थाना चौकियों को i.r.v पॉइंट बनाए गए हैं। इन गाड़ियों का कंट्रोल सेंटर रायपुर में है जहां से कोरबा कंट्रोल रूम को सूचना दी जाएगी जिसके बाद गाड़ियां मौके से रवाना होगी। इन गाड़ियों की मानिटरिंग नोडल अधिकारी एडिशनल SP करेंगे। e r v की खासियत यह है कि बलवा के दौरान पथरा में वाहन समेत अंदर मौजूद जवानों को नुकसान ना हो सके इसके लिए चारों ओर जाली लगाया गया है। बलवा करने वालों की लाइव फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी के लिए विकल के ऊपर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। रात के समय बलवा होने पर तेज रोशनी करने के लिए दूर तक फोकस करने वाले LED लाइट भी लगे हैं। पुलिस कप्तान ने बताया कि इमरजेंसी सेवा के तौर पर आवश्यकता अनुसार एंबुलेंस की मदद की जाएगी गलत सूचना देने पर कार्यवाही भी की जा सकती है।

228 प्रशिक्षित जवानों की तैनाती
डायल 112 के सेटअप में ड्राइवर निजी कंपनी का होगा लेकिन इसकी जिम्मेदारी पुलिस की रहेगी। इसके लिए जिला बल के 228 पुलिसकर्मियों को ट्रेनिंग देकर उनकी तैनाती 112 सेवा के लिए की जा रही है। जो तीन शिफ्ट में ड्यूटी करते हुए 24 घंटे सेवा देंगे। आर्मी एक्सीडेंट आग लगने की सूचना पर मौके के लिए रवाना होगी इन गाड़ियों का उपयोग पेट्रोलिंग के लिए नहीं किया जाएगा।

दुर्गम मार्गों पर बाइक से पहुंचेंगे
डायल 112 की सपोर्टिंग बेस्ट पास 5 बाइक भी प्रदान की गई है। ऐसे गांव जहां की पहुंच मार्ग दुर्गम है अथवा चार पहिया वाहन का पहुंचना मुश्किल है। ऐसे हालात सेवक तत्परता के लिए बाइक से जवान पहुंचकर रिपोर्टिंग करेंगे। विपत्ति की स्थिति में हरसंभव और इस निर्णय लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

About admin

Check Also

अटल विकास यात्रा में बस्तर को मिली एक बड़ी सौगात, सीएम ने कहा रेल मार्ग से खुलेंगे विकास के दरवाजे

जगदलपुर। प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के तहत आज छत्तीसगढ़ के आदिवासी बहुल बस्तर संभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *